JEE Full From in Hindi | JEE का फुल फॉर्म क्या होता है?

JEE Full From in Hindi: Hello दोस्तों स्वागत है आपका आपके अपने ब्लॉग techblogginghindi हम जैसे ही हम अपने होश को संभालते हैं यानी कि हम अपने बारे में जानना शुरू करते हैं।

वैसे ही हम अपने भविष्य को लेकर सपने बुनने लगते हैं कि भविष्य में या तो हम डॉक्टर बनेंगे या इंजीनियर और इस सपने को आम जीना शुरु कर देते हैं अपने लक्ष्य के मुताबिक पढ़ाई करना शुरू कर देते हैं ।

हमारा प्रयास एक निर्धारित दिशा की ओर शुरू हो जाता है और अंत में हमें उस दिशा में बेहतर रिजल्ट भी प्राप्त होते हैं। यदि आप ने भी कोई सपना देखा है तो उसी दिशा में आपको कार्य करना चाहिए।

आज हम बात करेंगे इंजीनियरिंग की यदि आप इसमें अपना करियर बनाना चाहते हैं, तो इसके लिए आप की प्रारंभिक सब्जेक्ट क्या होंगे जिसे पढ़कर आप इंजीनियर बन सकते हैं आज हम आपको इन्हीं सब विषयों से जुड़ी जरूरी बातें बताएंगे।

इंजीनियर बनने के लिए सबसे पहले आपको JEE की परीक्षा में सफलता हासिल करनी होगी। इसमें सफलता हासिल करने के बाद ही उम्मीदवार इंजीनियरिंग की तैयारी कर सकता है। आमतौर पर लोगों को जेईई के बारे में बहुत अधिक जानकारी नहीं होती।

इस कारण से उनको इंजीनियर बनने में सफलता प्राप्त नहीं होती इंजीनियरिंग क्या है? और इंजीनियर बनने के लिए JEE परीक्षा पास करना क्यों जरूरी होता है इससे JEE Full From in Hindi संबंधी सभी प्रश्नों का उत्तर आपको यहां दिया जाएगा।

JEE Full Form in Hindi

jee full form in hindi

जेईई सुविधा के लिहाज से पुकारा जाता है ।इसका फुल फार्म “Joint Entrance Examination” इस परीक्षा से उस उम्मीदवार को गुजरना पड़ता है।

जो उम्मीदवार इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं उन्हें इस परीक्षा को पास करना होता है क्योंकि एक इंजीनियर बनने के लिए इस परीक्षा में शामिल होना और सफलता प्राप्त करना अनिवार्य है।

जेईई क्या है ?

इंजीनियर बनने के सपने को साकार करने के लिए उम्मीदवार का जेईई पास करना बेहद जरूरी होता है ।इस परीक्षा में सर्वाधिक अंक लाने वाले उम्मीदवारों को अच्छे कॉलेज में दाखिला मिलता है। उम्मीदवार का दाखिला JEE परीक्षा में प्राप्त अंको पर आधारित होता है।

JEE क्या नेशनल लेवेल की परीक्षा है?

जेईई की परीक्षा के दो भाग में ली जाती है जिनमे JEE Mains और JEE Advance दोनों को शामिल किया जाता है ।JEE की वर्ष में दो बार आयोजित की जाती है यानी कि 6 महीना के अंतराल में उम्मीदवार इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं यह कोई साधारण एग्जाम नहीं है।इस एग्जाम को नेशनल लेवल का दर्जा प्राप्त है।

JEE MAINS के लिए उम्मीदवार की क्या योग्यता मापदंड तय किया गया है?

इस परीक्षा शामिल होने के लिए उम्मीदवार का 12वीं पास होना जरूरी होता है या फिर उम्मीदवार 12वीं कक्षा में पढ़ रहा हो विद्यार्थी के 12वी में सब्जेक्ट कॉम्बिनेशन में फिजिक्स ,केमिस्ट्री और मैथ्स विषयों का लेना अनिवार्य होता है ।इन विषयों के साथ 12वीं की परीक्षा में पास विद्यार्थी ही जेईई की परीक्षा देने योग्य समझे गए हैं।

इस परीक्षा में विद्यार्थी 3 साल तक अपीयर हो सकता है।वही इस परीक्षा का आयोजन साल में दो बार किया जाता है ।कुल मिलाकर एक विद्यार्थी इस परीक्षा में 6 बार शामिल हो सकता है।

जेईई की परीक्षा का प्रारूप:

जैसा कि आपको पहले ही बताया जा चुका है कि जेईई की परीक्षा दो भागों में विभाजित की गई है उम्मीदवार को सर्वप्रथम JEE Mains और और द्वितीय चरण में उसे JEE Advance परीक्षा से गुजर ना पड़ता है।

उम्मीदवार को इस विषय में जानकारी ना होने के कारण उनको कई बार दिक्कतों का सामना करना पड़ता है क्योंकि उन्हें परीक्षा का प्रारूप को लेकर शंका रहती है उन्हें यह पता नहीं होता कि जेई मेन और जेई एडवांस के मध्य क्या अंतर है।

JEE MAIN की परीक्षा कौन करवाता है?

JEE Mains में उम्मीदवार को ऐसे एंट्रेंस टेस्ट से गुजरना पड़ता है। इसे आयोजित करने का जिम्मा सीबीएसई का होता है। इसमें सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाले उम्मीदवार को आईआरटी, एनआईटी ,और सीएफटीएलएजैसे अन्य इंजीनियरिंग कॉलेजों में बेहद बेहद सहज तरीके से एडमिशन मिल जाता है इस प्रकार की कॉलेज राज्य सरकार द्वारा संचालित किए जाते हैं इसमें कुछ निजी कॉलेजों को भी शामिल किया गया है।

जे. ई. ई. ADVANCE की परीक्षा आयोजित करने के पीछे किसका हाथ होता है?

जेईई एडवांस की प्रवेश परीक्षा में इस परीक्षा को आयोजित करने का कार्यभार आईआईटी के कंधे पर होता है। राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (NIT) अथवा सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान( IIIT) में उम्मीदवार को एडमिशन के लिए JEE Mains परीक्षा में प्राप्त अंक को आधार मानकर ही दाखिला दिया जाता है।

इसके अतिरिक्त डीम्ड विश्वविद्यालय कभी एक दायरा निर्धारित किया गया है ।जेईई मेंस के एग्जाम में आए परिणाम को दिखा कर भी यहां पर एडमिशन देने के लिहाज से कभी कभी करते है।

विद्यार्थी जीवन में जानकारी के अभाव में बहुत से ऐसे अवसर आते हैं। जिनकी जानकारी ना होने के कारण हम उन अवसरों खो बैठते हैं इसलिए विद्यार्थी जीवन में आप को कॉम्पटीटिव एग्जाम से संबंधित तरह-तरह की जानकारी अवश्य होनी चाहिए।

आपकी जानकारी को बढ़ाने के उद्देश्य हमने इस कड़ी में जेईई परीक्षा से जुड़े महत्वपूर्ण जानकारी साझा की है।आशा करते हैं कि आपको यह ब्लॉग पढ़कर इससे संबंधित आपकी जिज्ञासा शांत हुई होगी।

Conclusion

इस पोस्ट में मैंने आपको JEE  Full Form in Hindi के बारे में विस्तार से बताया है और साथ ही JEE से सम्बंधित सभी जानकारी दी है।

उम्मीद है की आपको हमारा ये ब्लॉग पोस्ट JEE का फुल फॉर्म क्या होता है बेहद पसंद आया होगा आप चाहें तो इस पोस्ट को शेयर करके हमारी मदद कर सकते हैं।

Leave a Reply